IPL 2020: 11 कप्तानों को आजमा चुकी है KXIP, क्या खिताब दिला पाएंगे केएल राहुल ?

Spread the news

इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के इतिहास में किंग्स इलेवन पंजाब एक ऐसी टीम है जो आज तक आईपीएल का खिताब नहीं जीत सकी है। इसके अलावा किंग्स इलेवन पंजाब ने सिर्फ एक दफा ही फाइनल मुकाबला खेला है। हालांकि, इस बार टीम में काफी परिवर्तन किया गया है। आईपीएल के 13वें सीजन में अपनी मजबूत दावेदारी पेश करने के लिए टीम ने कई बेहतरीन खिलाड़ियों को शामिल किया है और साथ ही साथ अनिल कुंबले जैसे दिग्गज को मुख्य कोच बनाया गया है।

11 कप्तानों को आजमा चुकी किंग्स इलेवन पंजाब

अपने सूखे को दूर करने के लिए आईपीएल के 12 सीजन में किंग्स इलेवन पंजाब 11 कप्तानों को आजमा चुकी है और इस नए सीजन में भी वह नए कप्तान के साथ मैदान में उतरेगी। पंजाब को उम्मीद है कि उसको पहला खिताब दिलाने में कप्तान के एल राहुल का विशेष योगदान रहने वाला है। के एल राहुल के नाम आईपीएल में 67 मैचों में 1977 रन हैं, जिसमें उन्होंने 1 शतक और 16 अर्धशतक जड़े हैं।

टीम में एल राहुल, मयंक अग्रवाल, क्रिस गेल, ग्लेन मैक्सवेल, मोहम्मद शमी जैसे अनुभवी खिलाड़ी हैं जो किसी भी वक्त मैच का रुख पलट सकते हैं। हालांकि, इन खिलाड़ियों को छोड़ दिया जाए तो टीम में अनुभव की काफी कमी है। क्रिस गेल का बल्ला अब कुछ खास चलता नहीं है मगर निकोलस पूरन, सरफराज खान की मौजूदगी में टीम का बल्लेबाजी विभाग काफी मजबूत दिखाई दे रहा है।

किंग्स इलेवन पंजाब ने कमियों को किया दूर

किंग्स इलेवन पंजाब ने अपनी कमियों को दूर करने के लिए पिछले साल नीलामी में काफी पैसा खर्च किया। ताकि मिडिल ऑडर और डेथ ओवरों की गेंदबाजी के लिए कुछ खास खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया जा सके। अब टीम के पास शेल्डन कॉट्रेल और इंग्लैंड के क्रिस जोर्डन के अलावा तेज गेंदबाजी में अन्य विकल्प मोहम्मद शमी, जेम्स नीशाम, हार्डस विलजोन, दर्शन नलकंडे, अर्शदीप सिंह और इशान पोरेल हैं।

 इसे भी पढ़ें: भारत-ऑस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों को आईपीएल से ‘चुनौतीपूर्ण’ अभ्यास का मौका मिलेगा: चैपल 

टीम के पास ऑलराउंडर की कमी

अभी भी एक कमी जो टीम में दिखाई दे रही है वो भारतीय ऑलराउंडर का न होना है। टी20 क्रिकेट में ऑलराउंडर की भूमिका तो किसी से छिपती नहीं है और आईपीएल जैसे मंच में तो ऑलराउंडर्स की और भी ज्यादा अग्नि परीक्षा होती है। किंग्स इलेवन पंजाब के पास ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी ग्लेन मैक्सवेल और न्यूजीलैंड के जेम्स नीशाम के अलावा कोई मंझा हुआ ऑलराउंडर नहीं है। दिक्कत इस बात की है कि ये दोनों खिलाड़ी विदेशी हैं और टीम सिर्फ चार ही विदेशी खिलाड़ी के साथ मैदान में उतर सकती है। ऐसे में यह देखना काफी दिलचस्प होगा कि केएल राहुल किन चार विदेशी खिलाड़ियों पर भरोसा करते हैं।

स्पिनर्स निभा सकते हैं अहम भूमिका

संयुक्त अरब अमीरात की पिचों पर स्पिन के बड़ी भूमिका निभाने की उम्मीद है। टीम के पास मुजीब उर रहमान, मुरुगन अश्विन, कृष्णप्पा गौतम, रवि विश्नोई, जगदीप सुचित जैसे गेंदबाद मौजूद हैं लेकिन मुजीब उर रहमान के अलाना किसी भी स्पिन गेंदबाज की प्लेइंन इलेवन में जगह पक्की नहीं मानी जा सकती है।

किंग्स टीम: केएल राहुल (कप्तान), मयंक अग्रवाल, ग्लेन मैक्सवेल, क्रिस गेल, मोहम्मद शमी, जिमी नीशाम, शेल्डन कॉट्रेल, क्रिस जॉर्डन, करुण नायर, निकोलस पूरण, कृष्णप्पा गौतम, मुजीब उर रहमान, रवि बिश्नोई, एम अश्विन, इशान पोरल, मंदीप सिंह, दीपक हूडा, हार्डूस विलेहोन, प्रभसिमरन सिंह, दर्शन नालकंडे, सरफराज खान, अर्शदीप सिंह, जे सुचित, हरप्रीत बराड़ और तजिंदर सिंह

Please follow and like us:
RSS
Follow by Email
Facebook
Google+
http://readersmessenger.com/?p=1663
Twitter

Related posts

Leave a Comment