CM योगी आदित्यनाथ का निर्देश दवा तथा ऑक्सीजन उपलब्धता की रोज जानकारी दें ड्रग कंट्रोलर

Spread the news

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रसार पर अंकुश लगाने के क्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश में दवा तथा ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक रखने का निर्देश दिया है। सीएम योगी आदित्यनाथ ने टीम-11 के साथ लोकभवन में सोमवार को अनलॉक-4.0 के साथ कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर समीक्षा की।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में सक्रियता बढ़ाने के निर्देश देते हुए कहा कि इसको प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए सर्विलांस टीमों की संख्या में वृद्धि की जाए। उन्होंने कहा कि ड्रग कंट्रोलर यह सुनिश्चित करें कि कोविड-19 के मद्देनजर अस्पतालों एवं चिकित्सा संस्थानों में सभी आवश्यक दवाइयां पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हो। इन औषधियों के बैकअप की व्यवस्था भी की जाए। सूबे में कहीं भी दवाओं की जमाखोरी न होने पाए। यदि ऐसा हो तो दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में स्थापित ऑक्सीजन प्लाण्ट्स प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में निधार्रित दर पर ऑक्सीजन की आपूॢत करें। ऑक्सीजन की दर वही रहनी चाहिए, जो कोविड-19 के पहले थी। उन्होंने ऑक्सीजन की कालाबाजारी की शिकायत मिलने पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि अस्पतालों, मेडिकल कॉलेजों तथा चिकित्सा संस्थानों में ऑक्सीजन की कमी न होने पाए। उन्होंने कहा कि लखनऊ, कानपुर नगर, प्रयागराज, गोरखपुर, वाराणसी तथा मेरठ में सभी मेडिकल कॉलेज तथा अस्पताल पूरी गुणवत्ता एवं क्षमता से कार्य करें। उन्होंने कहा कि ड्रग कंट्रोलर इन जिलों में दवाई तथा ऑक्सीजन की सुचारु व्यवस्था बनाये रखें। ड्रग कंट्रोलर प्रदेश में दवा एवं ऑक्सीजन की उपलब्धता व आपूर्ति के सम्बन्ध में मुख्यमंत्री कायार्लय को प्रतिदिन अपनी आख्या उपलब्ध कराएं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड अस्पतालों में चिकित्सकों एवं पैरामेडिक्स की पर्याप्त संख्या में उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए लगातार प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करें। स्वास्थ्य विभाग के अधीन कोविड चिकित्सालयों में बेड्स की संख्या में वृद्धि की जाए। केजीएमयू, एसजीपीजीआइ व आरएमएल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एक हजार आइसीयू बेड्स की व्यवस्था करें।

कोविड-19 से बचाव व सुरक्षा के सम्बन्ध में लगातार जागरूकता अभियान संचालित किया जाए। सभी स्थानीय निकायों में पब्लिक एड्रेस सिस्टम स्थापित करते हुए इसके माध्यम से लोगों को कोविड-19 के सम्बन्ध में जागरूक किया जाए। इन सभी के साथ आत्मनिर्भर भारत पैकेज का प्रभावी क्रियान्वयन कराया जाए। ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय तथा पंचायत भवन का निर्माण तेजी से कराया जाए। उन्होंने सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत खाद के लिए गड्ढे खोदकर कम्पोस्ट तैयार करने का निर्देश भी दिया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालय तथा पंचायत भवन का निर्माण तेजी से कराया जाए। सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट के तहत खाद के लिए गड्ढे खोदकर कम्पोस्ट तैयार करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इससे किसानों को अच्छी खाद मिलेगी और गांवों में कूड़ा भी निस्तारित होगा। इस बैठक में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव गृह एवं सूचना अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश चंद अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डॉ. रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव पंचायती राज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Please follow and like us:
RSS
Follow by Email
Facebook
Google+
http://readersmessenger.com/?p=1560
Twitter

Related posts

Leave a Comment